International Women’s Day 2022: अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस, जानिए इसका इतिहास और महत्व

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस (international Women’s Day) पूरी दुनिया मे महिलाओं के प्रति सम्मान, जागरुकता, और महिलाओं के जीवन स्तर मे सुधार लाने के लिए हर बर्ष 8 मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाता है।

महिलाओं को समाज मे जागरूक करने और महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक बनाने के लिए, और महिलाओं के प्रति जो हमारे समाज मे कुरीतियां पाई जाती है उन्हें दूर करने के लिए, और असमानता को दूर करने के लिए हर बर्ष संयुक्त राष्ट्र संघ की पहल पर हर वर्ष 8 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के रूप में मनाया जाता है

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस ( international Women’s Day)

तारीख 8 मार्च
प्रकार अंतरराष्ट्रीय
उदेश्य महिलाओं एवं ल़डकियों का जागरुकता दिवस
लिंग वाद विरोधी दिवस
कहा मनाया जाता है पूरी दुनिया मे
किसकी पहल संयुक्त राष्ट्र संघ

महिला दिवस का इतिहास ( international Women’s Day History)

महिला दिवस हर बर्ष 8 मार्च को ही क्यों मनाया जाता है इसके पीछे ऐतिहासिक तौर पर एक घटना है 1908 मे अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर मे हुए महिला मजदूर संघटन द्वारा 8 मार्च को एक आन्दोलन किया गया था यह आन्दोलन महिलाओं के अधिकारों के लिए था। उस समय समूचे विश्व मे महिलाओ के प्रति भेदभाव ,द्वेषपूर्ण बर्ताव, और उन्हें काम मे पुरूषों के समान वेतन, ना मिलने के कारण पूरी विश्व की महिलाये पुरूषों के बराबर रहकर अपने अधिकारों की मांग करने लगी।

इसके 1909 गारमेंट फैक्ट्री में हड़ताल के बाद सोशलिस्ट पार्टी ऑफ अमेरिका ने यह पहल शुरू की कि 28 फरवरी को महिला दिवस के रूप में मनाया जाएगा

इसके 1 साल बाद सन 1910 में क्लारा जेटकिन ने महिलाओं महिलाओं का नेतृत्व करते हुए अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने का सुझाव दिया और मौजूद सभी महिलाओं से आज के दिन महिला दिवस मनाने की शुरुआत की।

सन 1911 में आंदोलन लगभग सारे विश्व में फैल गया और अमेरिका डेनमार्क स्विजरलैंड ऑस्ट्रेलिया जर्मनी आदि देशों में इस दिन रैलियां निकाली गई इन रैलियों में महिलाओं की मांग थी कि उन्हें पुरुषों के बराबर समान अधिकार और जिन देशों में महिलाओं को वोट देने का अधिकार नहीं था उनको वोट डालने का अधिकार, शिक्षण संस्थान में प्रवेश लेने का अधिकार, नौकरियों में भेदभाव खत्म करना, सभी क्षेत्रों में महिलाओं का पुरुषों के बराबर ही अधिकार

इसके बाद द प्रथम विश्व युद्ध के दौरान रूसी महिलाओं द्वारा शांति स्थापित करने के लिए और महिलाओं महिलाओं के प्रति समानुभूति और उन्हें सशक्त बनाने के लिए फरवरी माह के अंतिम रविवार को महिला दिवस मनाया गया।

इसके बाद रूसी महिलाओं के द्वारा 8 मार्च महिलाओं के सम्मान मे महिला दिवस मनाने की शुरुआत हुई। जिसे आधिकारिक रूप से संयुक्त राष्ट्र संघ 1979 मे मान्यता दी गई और हर बर्ष महिलाओं के सम्मान मे 8 मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस ( international Women’s Day) मनाया जा रहा है। संयुक्त राष्ट्र द्वारा आधिकारिक तौर पर यह दिवस एक theme के साथ मनाया जाता है। महिला दिवस की पहली theme थी। “सेलिब्रेटिंग द पास्ट प्लानिंग फॉर द फ्यूचर”

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस theme 2022 ( international Women’s Day theme 2022)

इस बर्ष अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस theme ” स्थाई कल के लिए लैंगिक समानता

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस कब मनाया जाता है।

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस हर बर्ष 8 मार्च को मनाया जाता है। जो महिलाओं के प्रति सम्मान और महिला जागरुकता दिवस के रूप मे मनाया जाता है।

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस उदेश्य

महिलाओ के प्रति समानता, जागरुकता बढ़ाना, महिलाओ की स्थिति मे सुधार करना,उन्हें समाज की मुख्य धारा मे जोड़ना,महिलाओ के लिए कल्याणकारी योजनाएं बनाना।

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की theme 2022 की थीम क्या है।

एक स्थाई कल के लिए आज लैंगिक समानता ( gender equality today for a sustanable tomorrow )

महिला दिवस की शुरुआत मे योगदान दिया

महिला दिवस मनाने की शुरुआत का श्रेय रूसी महिला ‘ क्लारा जेटकिन’ को जाता है।

Leave a comment